Ayush Memo

Domain name क्या हैं ? सही Domain name कैसे ख़रीदे ? Domain name से पैसे कैसे कमाए ?

Domain name meaning in hindi – अगर आप एक ब्लॉगर हो या ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने से बारे में सोच रहे हो तो, Domain Name शब्द तो सुना ही होगा, ये शब्द अक्सर डिजिटल मार्केटिंग में इस्तमाल होता है,

इसलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है Domain name meaning in hindi

Domain name meaning in hindi – Domain name क्या है ?

परिभाषा – डोमेन नाम दो शब्दों से मिल के बना है, डोमेन और नाम, हिंदी शब्दकोष के अनुसार डोमेन का मतलब है कार्य सीमा और नाम का अर्थ है, आपके कार्य सीमा का क्या नाम है।

सरल भाषा में कहे तो – मान लीजिये आप एक घर बनवा रहे हैं अपने रहने के लिए, फिर आपसे कोई पूछे कि, आपका घर कहा है, तो आप उसको जो पता बताते हो,

ठीक उसी प्रकार Domain name आपके वेबसाइट का पता है, आपका Domain name वो पता हैं, जिसके माध्यम से विजिटर्स आपके वेबसाइट में पहुचंगे।

Domain क्या है ?

हिंदी शब्दकोष अनुसार डोमेन का अर्थ है कर्य सीमा, कार्य क्षेत्र, वर्क फील्ड, आदि

Domain name के प्रकार ?

domain-name-meaning-in-hindi

Top Level domain name

टॉप लेवल डोमेन सिंगल एक्सटेंशन के डोमेन नाम को कहते हैं, डॉट के बाद लगने वाले कोड को एक्सटेंशन कहते है,

जैसे .in, .com, .net, अब टॉप लेवल डोमेन को भी 2 भाग में डिवाइड किया गया है Generic top level domain (GTLD) और Country Code top level domain (CCTLD).

Generic top level domain name (GTLD)

जनेरिक टॉप लेवल डोमेन का अर्थ है जनरल लेवल डोमेन, इसका सही उदहारण है .in , .com , .net इस डोमेन नाम का इस्तमाल करके आप पुरे वर्ल्ड को टारगेट कर सकते हो।

.comcommunication
.orgorganization
.netnetwork
.govgovernment
Table 3.1

Country Code top level domain name (CCTLD)

कंट्री कोड टॉप लेवल डोमेन किसी देश के कोड को दर्शाता है इस डोमेन का इस्तमाल करके आप किसी एक देश को टारगेट कर सकते हो।

.inIndia
.cnChina
.ruRussia
.afAfghanistan
Table 3.2

Second Level domain name

सेकंड लेवल डोमेन डबल एक्सटेंशन के डोमेन नाम को कहते हैं, जैसे .co.in, .co.net, सेकंड लेवल डोमेन अक्सर फ्री वेबसाइट में इस्तमाल होता है।

Sub domain name kya hai ?

सब डोमेन आपके वेबसाइट को छोटे हिस्सों में वभाजित करता है जैसे aap.domainname.com, course.domainname.com, shop.domainname.com इससे आप अपने url को अपने वेबसाइट के किसी एक सेक्शन में टारगेट कर सकते हो।

Domain name कैसे काम करता है ?

डोमेन नाम के काम करने का तरीका एकदम आसान है, जब भी आप अपने internet browser के URL bar में वेबसाइट का डोमेन नाम टाइप करते हो, आपका डोमेन नाम, आपके वेबसाइट सरोवर के ip address को पॉइंट करता है।

और जैसे ही आपका डोमेन नाम सरोवर के इ प एड्रेस से कनेक्ट होता है आपकी वेबसाइट आपको दिखने लगती है।

Domain name क्यों ज़रूरी है ?

Represent Niche / नीच को बताने के लिए – आपके वेबसाइट का domain name, आपके आर्टिकल के कैटेगिरी या आप किस तरह की सर्विस देते हैं उसको दर्शाता हैं,

इससे आपके विजिटर्स को आपका काम समझ आता है, और आप अपने  विजिटर्स का काम आसान करते हो।

Website Address / वेबसाइट का पता – बिना domain name के आपकी वेबसाइट एक गुमनाम वेबसाइट है, और बिना नाम वाले वेबसाइट तक कोई नहीं पहुच सकता,

इसलिए domain name ज़रूरी है जो आपके विजिटर्स को आपके वेबसाइट तक पहुचने में मदद करता है।

Make Brand / ब्रांड बनाने में मददगार – अगर आप एक बड़े ब्रांड की वेबसाइट पर काम कर रहे हो तो, एक अच्छा domain name ब्रांड बनाने में भी मदद करता है।

Domain name register कैसे करे ?

Domain name रजिस्टर करने के आपको कुछ अच्छी वेबसाइट से domain name खरीदना होगा, जिसके लिए आपको 100 – 1000 रूपए तक देना होता है, यह कुछ वेबसाइट है, जिससे आप डोमेन नाम खरीद सकते हैं।

  • Godaddy
  • Namecheap

Registered domain kya hai – रजिस्टर डोमेन वो डोमेन नाम है, जो पहले से ही किसी के द्वारा रजिस्टर कर दिया हो, और अगर वो डोमेन नाम आपको चाहिए तो, आपको जादा पैसा देना होगा।

Domain name से पैसे कैसे कमाए ?

डोमेन नाम से पैसे कमाने के 2 तरीके आज हम आपको बतायेगे, जिससे आप पैसे कमा सकते है।

Domain name broking service – डोमेन नाम ब्रोकिंग सर्विस का अर्थ है, सस्ते डोमेन नाम को रजिस्टर करके जादा दाम में बेच सकते है, आपको डोमेन नाम ब्रोकिंग सर्विस की डिटेल इनके वेबसाइट पर मिल जायगी।

Domain name affiliate marketing – डोमेन नाम एफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए आपको एफिलिएट प्रोग्राम ज्वाइन करना होगा, एफिलिएट प्रोग्राम ज्वाइन करने से लिए डोमेन सेल्लिंग वेबसाइट को चेक कर सकते हो।

Domain name, Hosting, aur Website में क्या अंतर है ?

Domain Name – जैसा की हमने आपको पहले ही बताया है डोमेन आपके वेबसाइट का एड्रेस है, जो url bar में इस्तमाल होता है, सरल भाषा में ये आपके घर का एड्रेस है।

Hosting – होस्टिंग को समझने के लिए आप ये समझ लीजिये की, होस्टिंग वो जगह है जहा आपका घर बना हुआ है,

अब आपके घर में तरह तरह के समान होए है ठीक उसी प्रकार आपके वेबसाइट की फाइल जहा स्टोर होती है उसे होस्टिंग कहते है।

Website – वेबसाइट होस्टिंग और डोमेन नाम को मिला के बनता है, वेबसाइट आज हर फील्ड में इस्तमाल किया जाता है

जैसे Blogging, Affiliate Marketing, E Commerce, Portfolio, Digital Marketing, Organization Website.

Domain name लेते समय किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ?

Scalability / अनुमापकता – डोमेन नाम लेते समय आपके ये बात ध्यान में रखना चाहिए, कि भविष्य में आपके डोमेन को दुसरे प्लेटफार्म में इस्तमाल कर सको जैसे www.booknotes.com,

अब नोट्स कुछ लिखना को दर्शाता है और Youtube में इस नाम को इस्तमाल करोगे तो थोडा अजीब लगेगा, इसलिए कोई ऐसा डोमेन नाम लीजिये जो हर प्लेटफार्म के लिए सही हो।

One time name / पहला और आखिरी नाम – डोमेन नाम लेते समय याद रखना कि, डोमेन नाम पहली और आखिरी बार रखने को मिलता है, one time investment है,

इसलिए niche पहले से ही सोच के डोमेन नाम ख़रीदे, कही बाद में ऐसा न हो कि, आप डोमेन नाम लेलो और बाद में सोचो की दुसरे niche में काम करना था।

Conclusion

इस आर्टिकल का पूरा सारांश ये है कि, डोमेन लेते समय ऊपर बताये गए बातो का ध्यान रखना चाहिए, इसके अलावा अगर आप ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते हो तो आपको ज़रूर डोमेन नाम लेना चाहिए।

FAQs (Frequently Asked Questions)

डोमेन का क्या अर्थ होता है ?

डोमेन नाम दो शब्दों से मिल के बना है, डोमेन और नाम, हिंदी शब्दकोष के अनुसार डोमेन का मतलब है कार्य सीमा और नाम का अर्थ है, आपके कार्य सीमा का क्या नाम है।

डोमेन नाम कितने प्रकार के होते हैं ?

डोमेन नाम 2 प्रकार के है –

Top Level domain – टॉप लेवल डोमेन सिंगल एक्सटेंशन के डोमेन नाम को कहते हैं, डॉट के बाद लगने वाले कोड को एक्सटेंशन कहते है, जैसे .in, .com, .net,

अब टॉप लेवल डोमेन को भी २ भाग में डिवाइड किया गया है Generic top level domain (GTLD) और Country Code top level domain (CCTLD).

Second Level domain – सेकंड लेवल डोमेन डबल एक्सटेंशन के डोमेन नाम को कहते हैं, जैसे .co.in, .co.net, सेकंड लेवल डोमेन अक्सर फ्री वेबसाइट में इस्तमाल होता है।

डोमेन नाम कैसे बनाये ?

डोमेन नाम बनाने के लिए आपको पहले डोमेन नाम खरीदना होगा, डोमेन नाम खरीदने के लिए आप कोई भी ऑनलाइन वेबसाइट जैसे godaddy, namecheap, में जा से आर्डर प्लेस कर सकते हो।

डोमेन नाम से रजिस्टर करने की प्रक्रिया क्या होती है ?

Domain name रजिस्टर करने के आपको कुछ अच्छी वेबसाइट से domain name खरीदना होगा, जिसके लिए आपको 100 – 1000 रूपए तक देना होता है,

यह कुछ वेबसाइट है, जिससे आप डोमेन नाम खरीद सकते हैं।

1. GoDaddy
2. NameCheap

Special Thank you

दोस्तों, हमारे आर्टिकल को पढने के लिए आपका धन्यवाद, हमे उम्मीद है हमने आपको पूरी जानकारी दी है, आप इस आर्टिकल को किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर करके हमारी और अपने दोस्तों की मदद कर सकते हो,

अगर आप हमसे कुछ पूछना चाहते हो, तो नीचे comment में पूछ सकते हो साथ ही अपने रिव्यु और विचार comment कर सकते हो, एक बार फिर से आपका दिल से धन्यवाद!

Leave a Comment